बटोरफ़नोल (Butorphanol in Hindi)

ਪੰਜਾਬੀ Eng हिंदी বাংলা

बटोरफ़नोल (Butorphanol in Hindi) का क्या उपयोग है?

बटोरफ़नोल  एक अँटी ओपीयोओईड एनाल्जेसिक है जो निम्न बीमारीयों  के उपचार में प्रयोग किया जाता है:

  • माइग्रेन, मांसपेशियों में दर्द जैसे गंभीर दर्द
  • प्रसव पीड़ा

यह एक मादक दर्द निवारक है। 

बटोरफ़नोल (Butorphanol in Hindi) के दुष्प्रभाव क्या हैं?

बटोरफ़नोल के सबसे आम दुष्प्रभाव होते हैं:

  • चक्कर आना / उनींदापन / खांसी
  • सुस्ती, तंद्रा
  • धुंधली दृष्टि
  • उलझन
  • छाती में दर्द
  • बेहोशी जैसी फ़ीलिंग आना जब बिस्तर से उठे 
  • घबराहट
  • अनियमित दिल की धड़कन / नाड़ी

एक चिकित्सक से परामर्श करें यदि लक्षण लगातार रह रहे हैं।

बटोरफ़नोल (Butorphanol in Hindi) के मतभेद क्या हैं?

आप निम्न स्थितियों में से कोई भी अगर महसूस करे तो कृपया अपने डॉक्टर को सूचित करे :

  • दवा बटोरफ़नोल या किसी अन्य एलर्जी की ओर हाइपर संवेदनशीलता।
  • गर्भावस्था, स्तनपान
  • दवाओं का बार-बार खुराक
  • मूड / मानसिक परिवर्तन
  • दवाई का दुरूपयोग
  • सिर पर चोट
  • बढ़ी हुई intracranial दबाव
  • वेंट्रिकुलर में शिथिलता
  • वृक्क रोग
  • यकृत रोग
  • कोरोनरी कमी
  • सांस की बीमारियों को 

बटोरफ़नोल (Butorphanol in Hindi) का क्या उपयोग है?

बटोरफ़नोल  एक अँटी ओपीयोओईड एनाल्जेसिक है जो निम्न बीमारीयों  के उपचार में प्रयोग किया जाता है:

  • माइग्रेन, मांसपेशियों में दर्द जैसे गंभीर दर्द
  • प्रसव पीड़ा

यह एक मादक दर्द निवारक है। 

बटोरफ़नोल (Butorphanol in Hindi) के दुष्प्रभाव क्या हैं?

बटोरफ़नोल के सबसे आम दुष्प्रभाव होते हैं:

  • चक्कर आना / उनींदापन / खांसी
  • सुस्ती, तंद्रा
  • धुंधली दृष्टि
  • उलझन
  • छाती में दर्द
  • बेहोशी जैसी फ़ीलिंग आना जब बिस्तर से उठे 
  • घबराहट
  • अनियमित दिल की धड़कन / नाड़ी

एक चिकित्सक से परामर्श करें यदि लक्षण लगातार रह रहे हैं।

बटोरफ़नोल (Butorphanol in Hindi) के मतभेद क्या हैं?

आप निम्न स्थितियों में से कोई भी अगर महसूस करे तो कृपया अपने डॉक्टर को सूचित करे :

  • दवा बटोरफ़नोल या किसी अन्य एलर्जी की ओर हाइपर संवेदनशीलता।
  • गर्भावस्था, स्तनपान
  • दवाओं का बार-बार खुराक
  • मूड / मानसिक परिवर्तन
  • दवाई का दुरूपयोग
  • सिर पर चोट
  • बढ़ी हुई intracranial दबाव
  • वेंट्रिकुलर में शिथिलता
  • वृक्क रोग
  • यकृत रोग
  • कोरोनरी कमी
  • सांस की बीमारियों को