कालमेघ (Kalmegh in Hindi)

ਪੰਜਾਬੀ Eng हिंदी বাংলা

कालमेघ (Kalmegh in Hindi) का क्या उपयोग है?

कालमेघ का प्रयोग निम्नलिखित स्थितियों के इलाज में किया जाता है:

  • लिवर विकार
  • बुखार, ठंडा
  • कीड़े
  • कब्ज, पेट गैस
  • सूजन, पाचन तंत्र की समस्याएं, आंतों में संक्रमण
  • त्वचा संबंधी समस्याएं
  • दस्त
  • बच्चों में कम भूख
  • मधुमेह, डेंगू

कालमेघ (Kalmegh in Hindi) के दुष्प्रभाव क्या हैं?

काल्मेघ ज्यादातर सुरक्षित है, लेकिन अधिक खुराक के कारण निम्न दुष्प्रभाव हो सकते हैं :

  • उल्टी, चकत्ते 
  • सिरदर्द, थकान
  • सूजी हुई लसीका ग्रंथियां

यदि लक्षण लगातार होते हैं तो कृपया एक चिकित्सक से परामर्श लें।

कालमेघ (Kalmegh in Hindi) के मतभेद क्या हैं?

यदि आपको निम्न स्थितियों में से कोई है तो कृपया अपने डॉक्टर को सूचित करें:

  • कालमेघ या किसी अन्य एलर्जी की ओर अति संवेदनशीलता।
  • अल्प रक्त-चाप
  • रक्तस्राव विकार
  • डुओडेनल अल्सर
  • ओसोफेजियल रिफ्लक्स
  • गर्भावस्था

कालमेघ (Kalmegh in Hindi) का क्या उपयोग है?

कालमेघ का प्रयोग निम्नलिखित स्थितियों के इलाज में किया जाता है:

  • लिवर विकार
  • बुखार, ठंडा
  • कीड़े
  • कब्ज, पेट गैस
  • सूजन, पाचन तंत्र की समस्याएं, आंतों में संक्रमण
  • त्वचा संबंधी समस्याएं
  • दस्त
  • बच्चों में कम भूख
  • मधुमेह, डेंगू

कालमेघ (Kalmegh in Hindi) के दुष्प्रभाव क्या हैं?

काल्मेघ ज्यादातर सुरक्षित है, लेकिन अधिक खुराक के कारण निम्न दुष्प्रभाव हो सकते हैं :

  • उल्टी, चकत्ते 
  • सिरदर्द, थकान
  • सूजी हुई लसीका ग्रंथियां

यदि लक्षण लगातार होते हैं तो कृपया एक चिकित्सक से परामर्श लें।

कालमेघ (Kalmegh in Hindi) के मतभेद क्या हैं?

यदि आपको निम्न स्थितियों में से कोई है तो कृपया अपने डॉक्टर को सूचित करें:

  • कालमेघ या किसी अन्य एलर्जी की ओर अति संवेदनशीलता।
  • अल्प रक्त-चाप
  • रक्तस्राव विकार
  • डुओडेनल अल्सर
  • ओसोफेजियल रिफ्लक्स
  • गर्भावस्था