प्रोस्य्क्लिडिन (Procyclidine in Hindi)

ਪੰਜਾਬੀ Eng हिंदी বাংলা

प्रोस्य्क्लिडिन (Procyclidine in Hindi) का क्या उपयोग है?

प्रोस्य्क्लिडिन एक एंटीकॉलिनर्जिक दवा है जो एसिट्लोक्लिन की गतिविधि को अवरुद्ध करती है। इसका उपयोग निम्नलिखित स्थितियों के उपचार में किया जाता है:

  • पार्किंसंस की बीमारी के लक्षण जैसे मांसपेशी कठोरता, पसीना, और लार का उत्पादन।
  • कुछ एंटीसाइकोटिक दवाओं के साइड इफेक्ट्स के कारण अनौपचारिक आंदोलन हुआ।

प्रोस्य्क्लिडिन (Procyclidine in Hindi) के दुष्प्रभाव क्या हैं?

प्रोस्य्क्लिडिन के सेवन के कारण हो सकते हैं कुछ आम साइड इफेक्ट्स जैसे कि:

  • कब्ज, घबराहट
  • उनींदापन, चक्कर आना
  • फ्लशिंग, सूखा मुंह
  • धुंधली दृष्टि, मतली

यदि लक्षण लगातार होते हैं तो कृपया एक चिकित्सक से परामर्श लें।

प्रोस्य्क्लिडिन (Procyclidine in Hindi) के मतभेद क्या हैं?

यदि आपको निम्न स्थितियों में से कोई है तो कृपया अपने डॉक्टर को सूचित करें:

  • दवा प्रोस्य्क्लिडिन या किसी अन्य एलर्जी की ओर अतिसंवेदनशीलता।
  • ग्लूकोमा (बंद कोण प्रकार)
  • अल्सरेटिव कोलाइटिस, मायास्थेनिया ग्रेविस (मांसपेशी कमजोरी विकार)
  • पेट / आंतों / एसोफैगस अवरोध, मूत्राशय की रोकथाम
  • उच्च रक्तचाप, सांस लेने की समस्याएं
  • दिल / गुर्दे / यकृत की समस्याएं
  • दौरे, मानसिक / मनोदशा की समस्याएं
  • हाइपरथायरायडिज्म (अति सक्रिय थायराइड)

प्रोस्य्क्लिडिन (Procyclidine in Hindi) का क्या उपयोग है?

प्रोस्य्क्लिडिन एक एंटीकॉलिनर्जिक दवा है जो एसिट्लोक्लिन की गतिविधि को अवरुद्ध करती है। इसका उपयोग निम्नलिखित स्थितियों के उपचार में किया जाता है:

  • पार्किंसंस की बीमारी के लक्षण जैसे मांसपेशी कठोरता, पसीना, और लार का उत्पादन।
  • कुछ एंटीसाइकोटिक दवाओं के साइड इफेक्ट्स के कारण अनौपचारिक आंदोलन हुआ।

प्रोस्य्क्लिडिन (Procyclidine in Hindi) के दुष्प्रभाव क्या हैं?

प्रोस्य्क्लिडिन के सेवन के कारण हो सकते हैं कुछ आम साइड इफेक्ट्स जैसे कि:

  • कब्ज, घबराहट
  • उनींदापन, चक्कर आना
  • फ्लशिंग, सूखा मुंह
  • धुंधली दृष्टि, मतली

यदि लक्षण लगातार होते हैं तो कृपया एक चिकित्सक से परामर्श लें।

प्रोस्य्क्लिडिन (Procyclidine in Hindi) के मतभेद क्या हैं?

यदि आपको निम्न स्थितियों में से कोई है तो कृपया अपने डॉक्टर को सूचित करें:

  • दवा प्रोस्य्क्लिडिन या किसी अन्य एलर्जी की ओर अतिसंवेदनशीलता।
  • ग्लूकोमा (बंद कोण प्रकार)
  • अल्सरेटिव कोलाइटिस, मायास्थेनिया ग्रेविस (मांसपेशी कमजोरी विकार)
  • पेट / आंतों / एसोफैगस अवरोध, मूत्राशय की रोकथाम
  • उच्च रक्तचाप, सांस लेने की समस्याएं
  • दिल / गुर्दे / यकृत की समस्याएं
  • दौरे, मानसिक / मनोदशा की समस्याएं
  • हाइपरथायरायडिज्म (अति सक्रिय थायराइड)