एन-एसिटिल सिस्टीन (N-Acetylcysteine in panjabi)

Eng हिंदी বাংলা ਪੰਜਾਬੀ

एन-एसिटिल सिस्टीन (N-Acetylcysteine in panjabi) ਦੀ ਵਰਤੋਂ ਕੀ ਹੈ?

निम्नलिखित स्थितियों में असामान्य, चिपचिपा, या घने श्लेष्म स्राव का इलाज करने के लिए प्रयुक्त किया जाता है:

  • तीव्र और क्रोनिक ब्रोंको-फुफ्फुसीय रोग
  • सिस्टिक फाइब्रोसिस या सर्जरी से जुड़े पल्मोनरी गड़बड़ी
  • ट्रेकोस्टोमी केयर
  • पोस्ट-आघात संबंधी छाती की स्थिति
  • श्लेष्म बाधा का इलाज
  • संज्ञाहरण के दौरान प्रयोग किया जाता है
  • एन- एसिटालिसीस्टीन एक एंटी-ऑक्सीडेंट है जो यकृत में बने जहरीले एसिटामिनोफेन को बाध्य करके कैटामिनोफेन (टायलोनोल) विषाक्तता का इलाज करता है।

एन-एसिटिल सिस्टीन (N-Acetylcysteine in panjabi) ਦੇ ਮਾੜੇ ਪ੍ਰਭਾਵ ਕੀ ਹਨ?

एन-एसिटिल सिस्टीन के कुछ सामान्य साइड इफेक्ट्स निम्न हैं:

  • चकत्ते
  • मतली या उनींदापन
  • उल्टी
  • दस्त या कब्ज
  • बुखार
  • श्वसन तंत्र के संक्रमण
  • बहता नाक
  • सीने में जकड़न
  • लिवर की समस्याएं

एन-एसिटिल सिस्टीन (N-Acetylcysteine in panjabi) ਦੇ ਵਿਚਕਾਰ ਕੀ ਅੰਤਰ ਹਨ?

निम्नलिखित स्थितियों में उपयोग नहीं किया जाना चाहिए:

  • फ्रूटोज असहिष्णुता
  • गर्भावस्था और स्तनपान
  • ग्लूकोज-गैलेक्टोज मैलाबॉर्सशन सिंड्रोम और सुक्रोज की कमी

एन-एसिटिल सिस्टीन (N-Acetylcysteine in panjabi) ਦੀ ਵਰਤੋਂ ਕੀ ਹੈ?

निम्नलिखित स्थितियों में असामान्य, चिपचिपा, या घने श्लेष्म स्राव का इलाज करने के लिए प्रयुक्त किया जाता है:

  • तीव्र और क्रोनिक ब्रोंको-फुफ्फुसीय रोग
  • सिस्टिक फाइब्रोसिस या सर्जरी से जुड़े पल्मोनरी गड़बड़ी
  • ट्रेकोस्टोमी केयर
  • पोस्ट-आघात संबंधी छाती की स्थिति
  • श्लेष्म बाधा का इलाज
  • संज्ञाहरण के दौरान प्रयोग किया जाता है
  • एन- एसिटालिसीस्टीन एक एंटी-ऑक्सीडेंट है जो यकृत में बने जहरीले एसिटामिनोफेन को बाध्य करके कैटामिनोफेन (टायलोनोल) विषाक्तता का इलाज करता है।

एन-एसिटिल सिस्टीन (N-Acetylcysteine in panjabi) ਦੇ ਮਾੜੇ ਪ੍ਰਭਾਵ ਕੀ ਹਨ?

एन-एसिटिल सिस्टीन के कुछ सामान्य साइड इफेक्ट्स निम्न हैं:

  • चकत्ते
  • मतली या उनींदापन
  • उल्टी
  • दस्त या कब्ज
  • बुखार
  • श्वसन तंत्र के संक्रमण
  • बहता नाक
  • सीने में जकड़न
  • लिवर की समस्याएं

एन-एसिटिल सिस्टीन (N-Acetylcysteine in panjabi) ਦੇ ਵਿਚਕਾਰ ਕੀ ਅੰਤਰ ਹਨ?

निम्नलिखित स्थितियों में उपयोग नहीं किया जाना चाहिए:

  • फ्रूटोज असहिष्णुता
  • गर्भावस्था और स्तनपान
  • ग्लूकोज-गैलेक्टोज मैलाबॉर्सशन सिंड्रोम और सुक्रोज की कमी