सोडियम साइटरेट (Sodium Citrate in panjabi)

Eng हिंदी বাংলা ਪੰਜਾਬੀ

सोडियम साइटरेट (Sodium Citrate in panjabi) ਦੀ ਵਰਤੋਂ ਕੀ ਹੈ?

यह एक क्षारीय एजेंट है जो कई गुर्दे की समस्याओं (गुर्दे की पत्थरों) के उपचार में उपयोग किया जाता है और रक्त और मूत्र में अतिरिक्त मात्रा में एसिड को निष्क्रिय करके काम करता है।

इसका उपयोग हल्के मूत्र पथ संक्रमण के मुख्य रूप से सिस्टिटिस (मूत्राशय की सूजन) के उपचार में भी किया जाता है।

सोडियम साइटरेट (Sodium Citrate in panjabi) ਦੇ ਮਾੜੇ ਪ੍ਰਭਾਵ ਕੀ ਹਨ?

यदि निम्न दुष्प्रभावों में से कोई भी होता है तो अपने डॉक्टर से परामर्श लें:

  • दिल की धड़कन बढ़ी
  • साँस की परेशानी
  • मल में खून
  • दस्त
  • मांसपेशियों में ऐंठन
  • भार बढ़ना
  • सूजन
  • मनोदशा में बदलाव

सोडियम साइटरेट (Sodium Citrate in panjabi) ਦੇ ਵਿਚਕਾਰ ਕੀ ਅੰਤਰ ਹਨ?

यदि आपको निम्न स्थितियों में से कोई है तो कृपया अपने डॉक्टर को सूचित करें:

  • किडनी खराब
  • कई दिल की बीमारी
  • निर्जलीकरण
  • कम पोटेशियम के स्तर
  • मूत्र रोग

सोडियम साइटरेट (Sodium Citrate in panjabi) ਦੀ ਵਰਤੋਂ ਕੀ ਹੈ?

यह एक क्षारीय एजेंट है जो कई गुर्दे की समस्याओं (गुर्दे की पत्थरों) के उपचार में उपयोग किया जाता है और रक्त और मूत्र में अतिरिक्त मात्रा में एसिड को निष्क्रिय करके काम करता है।

इसका उपयोग हल्के मूत्र पथ संक्रमण के मुख्य रूप से सिस्टिटिस (मूत्राशय की सूजन) के उपचार में भी किया जाता है।

सोडियम साइटरेट (Sodium Citrate in panjabi) ਦੇ ਮਾੜੇ ਪ੍ਰਭਾਵ ਕੀ ਹਨ?

यदि निम्न दुष्प्रभावों में से कोई भी होता है तो अपने डॉक्टर से परामर्श लें:

  • दिल की धड़कन बढ़ी
  • साँस की परेशानी
  • मल में खून
  • दस्त
  • मांसपेशियों में ऐंठन
  • भार बढ़ना
  • सूजन
  • मनोदशा में बदलाव

सोडियम साइटरेट (Sodium Citrate in panjabi) ਦੇ ਵਿਚਕਾਰ ਕੀ ਅੰਤਰ ਹਨ?

यदि आपको निम्न स्थितियों में से कोई है तो कृपया अपने डॉक्टर को सूचित करें:

  • किडनी खराब
  • कई दिल की बीमारी
  • निर्जलीकरण
  • कम पोटेशियम के स्तर
  • मूत्र रोग