ज़ेनथन गम (Xanthan gum in panjabi)

Eng हिंदी বাংলা ਪੰਜਾਬੀ

ज़ेनथन गम (Xanthan gum in panjabi) ਦੀ ਵਰਤੋਂ ਕੀ ਹੈ?

यह निम्न में उपयोगी है:

  • कब्ज
  • कम रक्त शर्करा के स्तर
  • मधुमेह लोगों में कुल कोलेस्ट्रॉल
  • शुष्क मुँह कि अवस्था 

इसमें  पानी को अवशोषित करने का गुण  है जिसके कारण यह आंत में पहुँच जाता है और मल को एकत्रित कर  शौच के लिए आसान बना देता है। यह भी पाचन ट्रैक से चीनी के अवशोषण को रोकता है, इस प्रकार रक्त शर्करा के स्तर को कम करता है।

ज़ेनथन गम (Xanthan gum in panjabi) ਦੇ ਮਾੜੇ ਪ੍ਰਭਾਵ ਕੀ ਹਨ?

ज़ेनथन गम अगर सीमित मात्रा में लिया जाता है तोह  आमतौर पर सुरक्षित है।

कुछ मामलों में, यह आंत्र गैस और सूजन पैदा कर सकता है। साँस द्वारा ज़ेनथन गम को लेने से ऊपरी श्वास ट्रैक जलन और फेफड़ों की समस्याओं हो सकती है।    

ज़ेनथन गम (Xanthan gum in panjabi) ਦੇ ਵਿਚਕਾਰ ਕੀ ਅੰਤਰ ਹਨ?

निम्न स्थितियों में इसका इस्तेमाल नहीं करें ।

  • जी मिचलाना
  • उल्टी
  • पथरी
  • हार्ड मल
  • संकुचन या आंत की रुकावट
  • बिने कारण पता लगे पेट दर्द

सर्जरी के 2 सप्ताह पहले इसका उपयोग बंद कर दें ; यह रक्त शर्करा के स्तर को कम कर सकता है।

ज़ेनथन गम (Xanthan gum in panjabi) ਦੀ ਵਰਤੋਂ ਕੀ ਹੈ?

यह निम्न में उपयोगी है:

  • कब्ज
  • कम रक्त शर्करा के स्तर
  • मधुमेह लोगों में कुल कोलेस्ट्रॉल
  • शुष्क मुँह कि अवस्था 

इसमें  पानी को अवशोषित करने का गुण  है जिसके कारण यह आंत में पहुँच जाता है और मल को एकत्रित कर  शौच के लिए आसान बना देता है। यह भी पाचन ट्रैक से चीनी के अवशोषण को रोकता है, इस प्रकार रक्त शर्करा के स्तर को कम करता है।

ज़ेनथन गम (Xanthan gum in panjabi) ਦੇ ਮਾੜੇ ਪ੍ਰਭਾਵ ਕੀ ਹਨ?

ज़ेनथन गम अगर सीमित मात्रा में लिया जाता है तोह  आमतौर पर सुरक्षित है।

कुछ मामलों में, यह आंत्र गैस और सूजन पैदा कर सकता है। साँस द्वारा ज़ेनथन गम को लेने से ऊपरी श्वास ट्रैक जलन और फेफड़ों की समस्याओं हो सकती है।    

ज़ेनथन गम (Xanthan gum in panjabi) ਦੇ ਵਿਚਕਾਰ ਕੀ ਅੰਤਰ ਹਨ?

निम्न स्थितियों में इसका इस्तेमाल नहीं करें ।

  • जी मिचलाना
  • उल्टी
  • पथरी
  • हार्ड मल
  • संकुचन या आंत की रुकावट
  • बिने कारण पता लगे पेट दर्द

सर्जरी के 2 सप्ताह पहले इसका उपयोग बंद कर दें ; यह रक्त शर्करा के स्तर को कम कर सकता है।